बीते एक साल में आए बदलाव को देखकर क्या राहुल गांधी 2019 में बन पाएंगे प्रधानमंत्री

बीते एक साल में राहुल गांधी के आने से ये बदलाव हुवा हैं या नहीं, क्या कांग्रेस लोकसभा चुनाव में बीजेपी को टक्कर दे पाएगी।

Daily News Online
Updated: December 24, 2018, 01:13 PM IST

जयपुर: तीन राज्यों में चुनाव जीतने के बाद कांग्रेस का विश्वास अब वापस लोट आया है। कांग्रेस नेता अब 2019 के लोकसभा चुनावों में पीएम मोदी को हराने की रणनीति पर काम कर रही हैं और उन्हें लगता है कि अब राहुल गांधी के नेतृत्व में राहुल गांधी केंद्र में कांग्रेस का नेतृत्व कर रही हैं। लेकिन सवाल यह है कि क्या राहुल गांधी 2019 में बन पाएंगे प्रधानमंत्री क्योंकि उन पर हमेशा पार्ट टाइम ’राजनीति का आरोप लगता रहा है। लेकिन पिछले एक साल में विधानसभा चुनावों के बाद ऐसा लगता है कि राहुल गांधी अब परिपक्व राजनीति की ओर बढ़ रहे हैं।

सपना चौधरी आ रही हैं टक्कर देने इस डांसर को ये देखे

गुजरात विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने पूरी ताकत के साथ बीजेपी को हराया है भले ही वह सरकार नहीं बना पाई लेकिन बीजेपी को आसानी से जीतने की क्षमता दी है। ऐसा नहीं था कि कांग्रेस ने एक बड़ा संगठन बनाया है जो भाजपा के कैडर का मुकाबला कर सके, उसका असर देखने को मिला। कांग्रेस ने स्थानीय जातीय समीकरणों के साथ मुद्दों को उठाया है जो सीधे तौर पर आम जनता से संबंधित थे चाहे वह किसान हों या बेरोजगारी। इस बीच राहुल ने कांग्रेस को ‘नरम हिंदुत्व’ की ओर मोड़ने में कोई कसर नहीं छोड़ी। लेकिन यह सवाल अभी भी बना हुआ है कि पिछले एक साल में राहुल गांधी इन बदलावों के कारण लोकसभा चुनाव में भाजपा का सामना कर पाएंगे या नहीं।

बीतेएकसालमेंआइन
बीते एक साल में आए इन बदलावों के दम पर क्या राहुल गांधी 2019 में बन पाएंगे भारत के प्रधानमंत्री
संगठन में युवाओं को तवज्जो और सीधे संवाद
राहुल गांधी ने युवा नेताओं को रणनीति बदलते हुए संगठन को मजबूत करने का काम दिया है। राजस्थान मध्य प्रदेश में हमने यह देखा है कि कैसे वह सचिन पायलट और ज्योतिरादित्य सिंधिया पर पूरा विश्वास करते थे। हालांकि ऐसा नहीं है कि उन्होंने बुजुर्ग नेताओं को पूरी तरह से खारिज कर दिया। इसके अलावा उन्होंने लगातार अन्य संगठनों के नेताओं के साथ भी संवाद किया। गुजरात में हार्दिक पटेल, जिग्नेश मेवानी और अल्पेश चोक जैसे युवा नेताओं ने कांग्रेस पर विशेष ध्यान दिया और इसका कांग्रेस को भी बहुत फायदा हुआ।
NDA ने की सीट बंटवारे की घोषणा अब करेगी घोषणा
‘प्रेसिडेंशियल डिबेट’ का चेहरा सामने आया
राहुल गांधी की इस बात पर हमेशा बहस होती है कि वह बातचीत के मामले में पीएम मोदी के सामने नहीं टिकते हैं। लेकिन राहुल गांधी ने पीएम मोदी से सीधे सवाल पूछे बिना संवाद शैली और यहां तक कि सोशल मीडिया से लेकर चुनावी मंच तक में जबरदस्त बदलाव किए हैं। ऐसा नजारा 2014 के चुनाव के समय नरेंद्र मोदी की रैलियों में देखने को मिला जब वे सीधे यूपीए सरकार और गांधी परिवार पर सवाल उठाते थे।
GST काउंसिल की 31 वीं बैठक पूरी हो गई कई सामान, 28 आयटम्स पर ही लागू होगा 28 प्रतिशत स्लैब
‘सॉफ्ट हिंदुत्व’ को छवि से परहेज नहीं है
लोकसभा चुनावों में हार के कारणों की जांच के लिए गठित एंटनी कमेटी ने कहा है कि कांग्रेस की हार का एक सबसे बड़ा कारण अल्पसंख्यकों के प्रति उसकी अधिक झुकाव की छवि है जिसके कारण बहुसंख्यक नाराज थे। ऐसा लगता है कि राहुल गांधी ने इस मामले को बहुत गंभीरता से लिया है और चुनाव या आम दिनों में मंदिर जाने से परहेज नहीं किया है। इससे कांग्रेस की हिंदू विरोधी ’छवि का पता चलता है। कांग्रेस के नेताओं का यह भी कहना है कि पार्टी अब ‘सॉफ्ट हिंदुत्व’ से भाजपा के “उग्र हिंदुत्व” का मुकाबला करेगी।
राजीव गांधी ने भारत रत्न वापस करने की मांग पर AAP में घमासान
क्या पीएम मोदी का कर पाएंगे मुकाबला
2019 के लोकसभा चुनाव दूर नहीं हैं। तीन राज्यों में चुनाव जीतने के बाद कांग्रेस का विश्वास वापस लौट आया है। लेकिन अब राहुल गांधी को कड़ी मेहनत करनी होगी। ऐसे कई मुद्दे हैं जिनका राहुल गांधी को सामना करना पड़ेगा। राफेल मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला कांग्रेस के लिए बड़ा झटका हो सकता है। कोर्ट ने किसी भी तरह की गड़बड़ी से इनकार किया है। दूसरी ओर अगस्ता वेस्टलैंड, नेशनल हेराल्ड जैसे मुद्दे भी कांग्रेस के सामने हैं और लोकसभा चुनावों में भाजपा नरेंद्र मोदी राहुल गांधी बनने के लिए हर प्रयास करेगी। तीन राज्यों में हार के बाद बीजेपी को संभलने का मौका मिला है। जिस तरह से मध्य प्रदेश और राजस्थान के चुनाव परिणाम इस पर एक नज़र डालते हैं स्पष्ट रूप से ‘मोदी लहर’ ने झटका दिया है कि ‘कांग्रेस की लहर’ ऐसी लहर नहीं है।
राजीव गांधी ने भारत रत्न वापस करने की मांग पर AAP में घमासान
यह भी पढ़ें:- US Defence Chief James Mattis Quits Over Trump’s Syria, Afghanistan Move
यह भी पढ़ें:- कैटरीना के नखरे झेलते दिखाई दे रहे है शाहरुख खान

 

Click News Daily

we at Click News Daily, provide lates & updated news just a click away, our news portal also covers bollywood sports & latest jokes. so be updated with clicknewsdaily.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *