GST काउंसिल की 31 वीं बैठक पूरी हो गई कई सामान, 28 आयटम्स पर ही लागू होगा 28 प्रतिशत स्लैब

वस्तु और सेवा कर परिषद यानी जीएसटी परिषद की आज 31 वीं बैठक के बाद इस बात पर सहमति बनी कि कई सामान सस्ते होंगे।

Daily News Online
Updated: December 22, 2018, 05:55 PM IST

नई दिल्ली: जीएसटी परिषद की 31 वीं बैठक आज शनिवार को आयोजित की गई। इस दौरान सस्ती कीमतें बनाने पर सहमति बनी। जेटली ने कहा कि अब जीएसटी का 28 प्रतिशत स्लैब केवल 28 लक्जरी वस्तुओं पर लागू होगा। छह और वस्तुओं को 28 प्रतिशत स्लैब से 18 प्रतिशत के स्तर पर ले जाया गया। सिनेमा टिकट भी होंगे सस्ते उन्होंने बताया कि कई राज्यों ने लक्ष्यों को प्राप्त किया कुछ राज्यों को सुधार की आवश्यकता थी। बताया जा रहा है कि जीएसटी काउंसिल की बैठक में कुछ वस्तुओं के जीएसटी स्लैब में बदलाव हो सकते हैं। दरअसल सिग्नल ने खुद पीएम मोदी को बताया है कि वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) को और सरल बनाया जाएगा। पीएम मोदी ने कहा था कि उनकी सरकार चाहती है कि 99 प्रतिशत सामान या वस्तुएं जीएसटी के 18 प्रतिशत के कर स्लैब में हों। हालाँकि अरुण जेटली सहित कई सदस्य आज इस बैठक में मौजूद हैं।
31 वीं GST परिषद की बैठक
– धार्मिक हवाई सेवाओं पर केवल 5% होगा #GST: वित्त मंत्री
महंगे सिनेमा टिकट पर GST 100 रुपये से घटाकर 18 रुपये: वित्त मंत्री
टीवी, टायर, पावर बैंक, वीडियो गेम्स में अब 28% से 18% #GST लगेगा: वित्त मंत्री
यह भी पढ़ें:- राजीव गांधी ने भारत रत्न वापस करने की मांग पर AAP में घमासान
वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि 100 रुपये तक के टिकटों पर 12 प्रतिशत जीएसटी कम हुआ है और इससे उपरोक्त टिकट पर जीएसटी 28 प्रतिशत से घटकर 18 प्रतिशत हो गया है।
मिशनदिल्लीपरKCR
मिशन दिल्ली पर KCR कांग्रेस के गठबंधन के लिए
यह भी पढ़ें:-राजीव गांधी ने भारत रत्न वापस करने की मांग पर AAP में घमासान
वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि सीमेंट और ऑटो पार्ट्स पर जीएसटी कम नहीं किया गया है।
वित्तमंत्रीअरुणजेटलीनेबताया
वित्तमंत्री अरुण जेटली ने बताया
वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि टीवी, मॉनिटर, टायर, पावर बैंक, बैटरी आदि पर जीएसटी 28 प्रतिशत से घटाकर 18 प्रतिशत कर दिया गया।
-32 इंच की टीवी भी सस्ती होगी
-हवाई टिकट भी सस्ता
यह भी पढ़ें:- US Defence Chief James Mattis Quits Over Trump’s Syria, Afghanistan Move
-पुडूचेरी के सीएम वी. नारायणसामी का बयान- GST की बैठक में 33 चीजों के दाम 18 फीसदी से 12 और 5 फीसदी के स्लैब में किए गए.
पुडूचेरीकेसीएमवीनारायण
पुडूचेरी के सीएम वी. नारायणसामी का बयान
यह भी कहा जा रहा है कि गुड्स एंड सर्विस टैक्स (जीएसटी) काउंसिल वाहनों के टायर पर जीएसटी दर को 28 फीसदी से घटाकर 18 फीसदी कर सकती है। यह कदम उच्चतम 28 प्रतिशत के कर स्लैब को तर्कसंगत बनाने के लिए उठाया जा सकता है।
यह भी पढ़ें:- कैटरीना के नखरे झेलते दिखाई दे रहे है शाहरुख खान
मालएवंसेवाकर(जीएसटी)परिष
माल एवं सेवा कर (जीएसटी) परिषद वाहनों के टायरों पर जीएसटी
22 दिसंबर को जीएसटी परिषद की बैठक का मुख्य फोकस आम आदमी पर जीएसटी के बोझ को कम करने पर होगा। वर्तमान में 28 प्रतिशत के उच्च स्लैब में 34 वस्तुएं हैं। इनमें वाहन के टायर, डिजिटल कैमरा, एयर कंडीशनर, डिश वॉशिंग मशीन, सेट टॉप बॉक्स, मॉनिटर और प्रोजेक्टर, साथ ही सीमेंट के साथ कुछ विनिर्माण उत्पाद शामिल हैं। एक अधिकारी ने कहा कि सीमेंट पर कर की दर 18 प्रतिशत तक कम करने से सरकार पर लगभग 20,000 करोड़ रुपये का वार्षिक बोझ पड़ेगा, इसके बावजूद परिषद यह कदम उठा सकती है। जिन उत्पादों को 28% कर स्लैब में रखा जाएगा, उनमें शीतल पेय, सिगरेट, बीड़ी, तंबाकू उत्पाद, पान मसाला, धूम्रपान पाइप, वाहन, विमान, नौका, रिवाल्वर और पिस्तौल और जुआ लॉटरी शामिल हैं। जीएसटी के पांच टैक्स स्लैब शून्य, 8, 12, 18 और 28 प्रतिशत हैं।
यह भी पढ़ें:- उत्तर प्रदेश अखिलेश यादव और मायावती की चाल बड़ा झटका दे सकती है!
प्रधान मंत्री मोदी ने कहा था कि “आज, जीएसटी प्रणाली को काफी हद तक स्थापित किया गया है और हम उस दिशा में काम कर रहे हैं जहां 99 प्रतिशत चीजों पर जीएसटी में 18 प्रतिशत कर द्वारा स्लैब में आना चाहिए।” उन्होंने संकेत दिया कि जीएसटी 28 प्रतिशत कर कर देगा स्लैब केवल लक्जरी उत्पादों जैसे चुनिंदा वस्तुओं के लिए होगा। मोदी ने कहा कि हमारा प्रयास यह सुनिश्चित करना होगा कि आम आदमी के उपयोग सहित 99% वस्तुएं GST का 18 प्रतिशत हो या कम कर ब्रैकेट में रखा जाए
यह भी पढ़ें:- 2018 Top Videos: इंटरनेट पर चला सपना चौधरी का ये जादू, जिसे लोगो ने किया कॉपी

Click News Daily

we at Click News Daily, provide lates & updated news just a click away, our news portal also covers bollywood sports & latest jokes. so be updated with clicknewsdaily.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *