उत्तर प्रदेश अखिलेश यादव और मायावती की चाल बड़ा झटका दे सकती है!

उत्तर प्रदेश के चुनावों के पीछे क्या कारण है कि सपा-बसपा नहीं चाहती कि कांग्रेस अपने गठबंधन में शामिल हो जाए?

Daily News Online
Updated: December 20, 2018, 06:28 PM IST

जयपुर: बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के इस बयान पर विचार करें: “बीजेपी के लिए बड़ा गठबंधन एक बड़ी चुनौती नहीं है। हम 201 9 में भी वापस आ जाएंगे, हां, उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा गठबंधन से कुछ चुनौतियां हो सकती हैं। “अमित शाह का ये बयान हाल ही में कुछ कार्यक्रमों के दौरान सामान्य निकाय के बारे में प्रश्नों के सवाल पर आ गए हैं। उनके दृष्टिकोण से ऐसा लगता है कि यूपी में प्रस्तावित एसपी-बीएसपी गठबंधन के बारे में बीजेपी का घर का कमरा भी थोड़ा परेशान है। यह एक अलग मामला है कि चुनाव रणनीति के तहत पार्टी इस परेशानी को अनजान नहीं करना चाहती है। राजनीतिक विश्लेषकों के मुताबिक अगर एसपी-बीएसपी के पास थोक जाति में थोक जाति का आधार वोट बैंक है, यदि यह 201 9 में एकजुट है, तो भाजपा के ‘हिंदू मतदाता’ फॉर्मूला पर जाति समीकरण विशाल हो सकती हैं। बिहार आरजेडी और जेडी (यू) में कांग्रेस के साथ यह समान तरीके से होगा जातीय समीकरणों के फेर में बीजेपी उलझकर रह गई थी.
यह भी पढ़ें:- 2018 Top Videos: इंटरनेट पर चला सपना चौधरी का ये जादू, जिसे लोगो ने किया कॉपी
क्या इस सीट शेयरिंग फार्मूले पर लगेगी मुहर ?
उत्तर प्रदेश के राजनीतिक गलियारे में, गठबंधन की स्थिति में सीट साझा करने की खबर तैयार की जा रही है। खबरों के मुताबिक उत्तर प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों में बहुजन समाज पार्टी 38 सीटें लेगी, जबकि समाजवादी पार्टी 37 सीटों पर होगी। पश्चिम उत्तर प्रदेश में तीन सीटें, चौधरी, अजित सिंह की पार्टी, आरएलडी के खाते में जाएगी। कांग्रेस के सम्मान में दो सीटें छोड़ने का फैसला किया गया है। रायबरेली और अमेठी यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के लिए जाने की तैयारी कर रहे हैं। यूपी के गणित में बुया-बाबुआ के बीच यह गठबंधन था। यह समय है कि बीएसपी या एसपी के नेताओं को इस तरह के किसी समझौते को खारिज कर दिया गया है। मायावती के बाद बीएसपी में दूसरा सबसे बड़ा नेता सत्येश मिश्रा इस तथ्य को निराधार मान रहा है। हालांकि अन्य पार्टी के नेता दबी जुबान के साथ गठबंधन के इस तरह के समीकरण को अस्वीकार नहीं कर रहे हैं। सतीश मिश्रा का बयान पार्टी की रणनीति के रूप में भी बताया जा रहा है।
यूपीमेंबीजेपीकोबड़ाझटकादेसक
यूपी में बीजेपी को बड़ा झटका दे सकती है अखिलेश यादव और मायावती
यह भी पढ़ें:- गौरी खान ने ईशा अंबानी की शादी में किया जबरदस्त डांस ये देखे
सपा-बसपा को कांग्रेस के साथ गठबंधन मिला
वास्तव में उत्तर प्रदेश में ऊपरी जाति का एक वर्ग अभी भी कांग्रेस का वफादार मतदाता है। आम तौर पर यह समझा जाता है कि दो पार्टियां एक साथ आती हैं उनका वोट बैंक पारस्परिक रूप से स्थानांतरित हो जाता है। राजनीतिक विश्लेषक जो यूपी राजनीति को गहराई से समझते हैं इस बिंदु को अस्वीकार करते हैं। ऐसा कहा जाता है कि राजनीति में केवल दो लोग आते हैं यह जरूरी नहीं है। राजनीति गणित, रसायन शास्त्र नहीं है। यहां दो चीजें जोड़ना कुछ और समीकरण बनाता है। विश्लेषकों का कहना है कि कभी-कभी किसी भी तीसरे पक्ष को दो अलग-अलग राजनीतिक दलों के बीच विसंगति गठबंधन से फायदा होता है। जैसा कि 2017 के विधानसभा चुनावों में हुआ था। कांग्रेस के साथ समाजवादी पार्टी का मुकाबला करने से दोनों पार्टियों को फायदा नहीं हुआ है। न तो कांग्रेस के वरिष्ठ मतदाताओं ने समाजवादी पार्टी के उम्मीदवारों के लिए वोट दिया और न ही सपा के मतदाताओं ने कांग्रेस उम्मीदवारों के लिए मतदान किया। इसी कारण कांग्रेस ने 2017 में विधानसभा चुनावों में केवल सात सीटें जीती थीं जबकि समाजवादी पार्टी को केवल 47 सीटें मिलीं। 2012 के चुनाव में अकेले चुनाव लड़ने पर उसी समाजवादी पार्टी को 224 सीटें मिलीं। 2017 के विधानसभा चुनावों में वरिष्ठ कांग्रेस के बीजेपी की भाजपा में बदलाव की बात थी। 1 99 6 में कांग्रेस के साथ गठबंधन के बाद बीएसपी ने भी इसका भुगतान किया है। उस समय बसपा ने महसूस किया कि कांग्रेस के साथ सह-संरेखण से कोई फायदा नहीं हुआ। साथ ही, 2017 में कांग्रेस समाजवादी पार्टी के लिए फायदेमंद साबित नहीं हुई थी।
यह भी पढ़ें:- Google पर प्रिया प्रकाश और सपना चौधरी ने सलमान और शाहरुख को भी छोड़ा पीछे जाने कैसे
200 9 और 2014 के चुनावों में कितनी सीटें हैं
2014 में कुल 80 लोकसभा सीटों के लिए चुनाव हुए थे। जिसमें बीजेपी ने 71 सीटें जीती थीं और इसकी पार्टी ने दो सीटें जीती थीं। इस प्रकार बीजेपी के नेतृत्व वाले गठबंधन को 73 रनों का रिकार्ड तोड़ दिया गया
यह भी पढ़ें:- वर्ष 2018 की 5 सबसे बड़ी शादीया ये देखे
यह भी पढ़ें:- आपने कभी नहीं देखा होगा सपना चौधरी का ऐसा डांस
यह भी पढ़ें:-Trump Administration Bans ‘Bump Stocks’ Used In Las Vegas Mass Shooting
यह भी पढ़ें:-यह कार जमीन पर चलेगी और हवा में इतनी स्पीड से उड़ेगी जानिए कीमत
यह भी पढ़ें:-भूपेश बघेल छत्तीसगढ़ के नए मुख्यमंत्री बने आज शपथ लेंगे

Click News Daily

we at Click News Daily, provide lates & updated news just a click away, our news portal also covers bollywood sports & latest jokes. so be updated with clicknewsdaily.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *